Independence Day 15 August - 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस

India's Independence Day is a testimony to the courage, sacrifice and determination of those countless individuals.

Independence Day 15 August

Read 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस

Sat, Feb 24, 2024
56
48
BhagwanApp Banner

हर साल, 15 अगस्त को, भारत जीवंत उत्सवों, देशभक्ति के उत्साह और एकता की एक नई भावना से जीवंत हो उठता है क्योंकि राष्ट्र ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन से अपनी कड़ी मेहनत से लड़ी गई आजादी का जश्न मनाता है। भारत का स्वतंत्रता दिवस उन अनगिनत व्यक्तियों के साहस, बलिदान और दृढ़ संकल्प का प्रमाण है जिन्होंने देश की संप्रभुता को सुरक्षित रखने के लिए अथक संघर्ष किया। यह दिन न केवल भारत के पिछले संघर्षों की याद दिलाता है, बल्कि इसकी विविध संस्कृति, प्रगति और भविष्य की आकांक्षाओं का उत्सव भी है।

ऐतिहासिक महत्व

स्वतंत्रता की ओर की यात्रा दशकों तक चलने वाली उतार-चढ़ाव भरी थी। स्वतंत्रता के लिए भारत के संघर्ष को कई आंदोलनों, अभियानों और प्रतिष्ठित नेताओं द्वारा चिह्नित किया गया, जिन्होंने जनता को संगठित किया और उत्पीड़न के खिलाफ आवाज उठाई। महात्मा गांधी के अहिंसक प्रतिरोध और सविनय अवज्ञा से लेकर भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस और अनगिनत अन्य लोगों के बलिदान तक, स्वतंत्रता का मार्ग अटूट दृढ़ संकल्प के साथ प्रशस्त हुआ।

15 अगस्त, 1947 को, वर्षों के शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन, नागरिक अशांति और बातचीत के बाद, भारत अंततः ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन से मुक्त हो गया। राष्ट्र एक नई सुबह के लिए जागा, जो भारतीय तिरंगे झंडे के फहराए जाने से चिह्नित हुआ, जो एक संप्रभु और स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में भारत के उद्भव का प्रतीक था।

पूरे देश में जश्न

स्वतंत्रता दिवस पूरे भारत में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। इन समारोहों का केंद्र बिंदु नई दिल्ली में लाल किला है, जहां प्रधान मंत्री राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं और राष्ट्र को संबोधित करते हैं। इस कार्यक्रम में हजारों नागरिक और गणमान्य व्यक्ति भाग लेते हैं और प्रधान मंत्री का भाषण देश की उपलब्धियों, चुनौतियों और भविष्य की आकांक्षाओं को दर्शाता है।

राष्ट्रीय राजधानी के अलावा, भारत के हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। स्कूलों, कॉलेजों, सरकारी कार्यालयों और सार्वजनिक स्थानों को तिरंगे से सजाया जाता है, और जीवन के सभी क्षेत्रों के लोग अपने पूर्वजों के बलिदान का सम्मान करने और देश के प्रति अपना प्यार व्यक्त करने के लिए एक साथ आते हैं।

सांस्कृतिक विविधता और एकता

भारत की अनूठी विशेषताओं में से एक इसकी समृद्ध सांस्कृतिक विविधता है, जो भाषाओं, धर्मों, परंपराओं और जातीयताओं तक फैली हुई है। स्वतंत्रता दिवस विविधता में इस एकता की याद दिलाता है, क्योंकि विभिन्न पृष्ठभूमि के लोग भारतीय के रूप में अपनी साझा पहचान का जश्न मनाने के लिए एक साथ खड़े होते हैं। देश की सांस्कृतिक विरासत को प्रदर्शित करने और राष्ट्रीय गौरव की भावना को बढ़ावा देने के लिए संगीत, नृत्य, नाटक और कला वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।

 

Also Known As
Related Story
Daanveer Karan Story
Daanveer Karan Story

दानवीर कर्ण - Daanveer Karan Story

KhatuShyam, Shyam Baba Ji ki Katha
KhatuShyam, Shyam Baba Ji ki Katha

खाटू श्याम बाबा जी की कथा - KhatuShyam, Shyam Baba Ji ki Katha

Maha Mrityunjaya Mantra
Maha Mrityunjaya Mantra

महामृत्युंजय मंत्र - Maha Mrityunjaya Mantra

Mrityunjaya Bhagwan ji ki Aarti
Mrityunjaya Bhagwan ji ki Aarti

मृत्युंजय भगवान जी की आरती - Mrityunjaya Bhagwan ji ki Aarti

Raksha Bandhan
Raksha Bandhan

रक्षा बंधन - Raksha Bandhan