Shiv Kailasho Ke Vaasi Lyrics - शिव कैलाशों के वासी

Shankar Sankat Harna, Shiv Kailasho Ke Vaasi Lyrics

Shiv Kailasho Ke Vaasi Lyrics

शिव कैलाशों के वासी

शिव कैलाश के वासी, धौली धारों के राजा
शंकर संकट हरना... शंकर संकट हरना...
ओ भोले बाबा, शंकर संकट हरना...

तेरे कैलाश का अंत ना पाया,
अंत बेअंत तेरी माया,
ओ भोले बाबा
अंत बेअंत तेरी माया
शंकर संकट हरना... शंकर संकट हरना...
ओ भोले बाबा, शंकर संकट हरना...

बेल की पत्ती भसमा और धतूरा
शिवजी के मन को लुभाए
ओ भोले बाबा
शिवजी के मन को लुभाए
शंकर संकट हरना... शंकर संकट हरना...
ओ भोले बाबा, शंकर संकट हरना...

 

एक था डेरा तेरा, चम्बेरे चौगाड़ा
दूजा लाई दीतता भर मोरा
ओ भोले बाबा
दूजा लाई दीतता भर मोरा
शंकर संकट हरना... शंकर संकट हरना...
ओ भोले बाबा, शंकर संकट हरना...

शिव कैलाशों के वासी,
धौलीधारों के राजा
शंकर संकट हरना,
शंकर संकट हरना... शंकर संकट हरना...
ओ भोले बाबा, शंकर संकट हरना...

शंकर संकट हरना

Support Us On


More For You

Bhagwan App Logo  Install App from Play Store Now.